Urdu shayari

Urdu shayari

हवा तो है ही मुख़ालिफ़ मुझे डराता है क्या
हवा से पूछ के कोई दिए जलाता है क्या

 

Jinako Milate Hain Nek Hamasafar
Unakee To Zindagee Hee Jannat Ban Jaatee Hai

 

हवा के दोश पे रक्खे हुए चराग़ हैं हम
जो बुझ गए तो हवा से शिकायतें कैसी

 

Main Mohabbat Be Panaah Va Baakamaal Karoonga
Tumase Nikaah Karake Apana Ishq Halaal Karoonga

 

रोज़ कहता है हवा का झोंका
आ तुझे दूर उड़ा ले जाऊँ

Urdu shayari
Urdu shayari

Sirph Behad Chaahane Se Kya Hota Hai
Naseeb Bhee Hona Chaahie Kisee Ka Pyaar Paane Ke Lie

 

अजब चराग़ हूँ दिन रात जलता रहता हूँ
मैं थक गया हूँ हवा से कहो बुझाए मुझे

 

Tumhaare Dil Mein Qaid Hai Hamaaree Dhadakane
Dhadakate Rahana Varn Mar Jaenge Ham

Urdu shayari-2021
Urdu shayari-2021

दिल में किसी के राह किए जा रहा हूँ मैं
कितना हसीं गुनाह किए जा रहा हूँ मैं

READ :  2 line shayari

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *