Dosti shayari

दोस्ती एक वो एहसास होता है,
जो अनजाने लोगो को भी पास लाता है,
जो हर पल साथ दे वही दोस्त कहलाता है,
वरना तो अपना साया भी साथ छोड़ जाता है।

Dosti Shayari, Phool bankar muskarana in Hindi-Urdu
Dosti Shayari, Phool bankar muskarana in Hindi-Urdu

Jhuthe hai wo log .. Jo kha karte hai pyar khuch ni dosti k samne ..
Pyar me to log ghar chod diya karte hai .. Dosti kya chez hai ..

Dosti Shayari, Dosti wo nahi hoti jo jaan in Hindi-Urdu
Dosti Shayari, Dosti wo nahi hoti jo jaan in Hindi-Urdu

सच्चा दोस्त वही होता है जो हमे कभी गिरने न दे,
वो न कभी किसी की नज़रो में गिरने दे,
और न कभी किसी के कदमो में गिरने दे।

Dost Shayari, Ek jaise dost sare nahi hote in Hindi-Urdu
Dost Shayari, Ek jaise dost sare nahi hote in Hindi-Urdu

Dosti Kis Se Na Thi Kis Se Mujhe Pyar Na Tha,
Jab Bure Waqt Pe Dekha Toh Koi Yaar Na Tha.

Dosti shayari
Dosti shayari

कबीर रात में तारे गिन के देखना ए दोस्त,
जितने तुम गिन पाए उतना तुम हमको याद करते हैं!
और जितने तारे बच जाए उतना हम तुमको याद करते हैं!

 

Toofano Ki Dushmani Se Na Bachte Toh Khair Thi,
Saahil Se Doston Ke Bharam Ne Dubo Diya.

 

तेरे हर एक दर्द का एहसास है मुझे,
तेरी मेरी दोस्ती पर बहुत नाज़ है मुझे,
क़यामत तक न बिछड़ेंगे हम दो दोस्त,
कल से भी ज्यादा भरोसा आज है मुझे।

READ :  Funny shayari

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *